सर्दी

सुन्न हो गए हाथ और पैर हो गए जाम।
सूं-सूं करती नाक और ठिठुरे दोनों कान।।
ठिठुरे दोनों कान कि सी-सी करते डोलें।
मुँह से धूँआं उड़े दाँत भी कट-कट बोलें।।
पारा नीचे गिरा समझ लो आफत आई।
छोड़े सारे काम बैठ गए ओढ़ रजाई।।